PM Kisan प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना 1

pm kisan samman nidhi yojana क्या है | योजना का लाभ कैसे होगा?

2019 का अंतरिम बजट साथ में दो नई योजनाएं लेकर आया | एक है  (PM Kisan) प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना और दूसरी है श्रम योगी पेंशन योजना | अपने भाषण में पियूष गोयल जी ने बताया यह योजना ( किसान सम्मान निधि स्कीम) देश के 12 करोड़ गरीब किसानों की मदद करेगी | इस योजना के तहत हर लाभार्थी किसान परिवार को सालाना ₹6000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी |

इस ब्लॉग  में हम आपको (PM Kisan) प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना स्कीम की संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं | इस ब्लॉग में आपको तरह तरह के लेख मिलेंगे जिनमें इस योजना से संबंधित सभी पहलुओं को समझाया गया है | हमारा ब्लॉग इस योजना का आधिकारिक ब्लॉग नहीं है, यह एक पर्सनल ब्लॉग है जहां पर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से संबंधित सारी जानकारी शेयर की जाती है |

(PM Kisan) प्रधानमंत्री किसान  सम्मान निधि योजना क्या है ?

(PM Kisan) प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत जितने भी India के किसान हैं उनको हर साल 6000 हजार रुपए की आर्थिक मदद दी जाएगी यानी कि 6000 हजार रुपए हर साल उनको दिए जाएंगे।

इस योजना को कब से लागू किया ?

  1. 1 दिसंबर 2018 से ही प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना पूरे देश में लागू किया गया है |
  2. किसान निधि के लिये 75,000 हजार करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है |
  3. 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा गया है |
  4. लाभार्थी :  देश के 12 करोड़ गरीब किसान

आधिकारिक वेबसाइट : pmkisan.gov.in

किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी कौन से किसान होंगे?

  • भारत में रहने वाला कोई भी किसान परिवार जिसमें पति-पत्नी, 18 साल से कम आयु के बच्चे हो और उस परिवार की कुल जमीन 2 हेक्टेयर यानी 5 एकड़ से ज्यादा नहीं हो, वह किसान परिवार इस योजना के लाभार्थी होंगे
  • जिन जिन किसानों का 1 फरवरी 2019 तक जमीनी रिकॉर्ड में नाम होगा वहीं इस योजना के लाभार्थी होंगे
  • अगर किसी किसान के पास दो हेक्टेयर या फिर इससे कम जमीन हो लेकिन उस जमीन में खेती नहीं की जाती हो, तो ऐसे किसानों को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा |
  • अगर किसान की जमीन अलग अलग स्थानों में फैली होगी, तो उसकी पूरी जमीन की गणना की जाएगी | अगर सारी जमीन मिला के 2 हेक्टेयर या उससे कम होगी तभी ऐसे किसानों को फायदा मिलेगा

जिन किसानों के पास 2 हेक्टेयर से अधिक जमीन है ऐसे किसानों को उन्हें प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत 2 हेक्टेयर जमीन या 2 हेक्टेयर से कम जमीन होना आवश्यक है।

पैसे कैसे मिलेंगे?

अगर बात की जाए कि ये पैसा कैसे मिलेगा तो किसानों के बैंक खाते में 2-2 हजार की तीन किस्तें में पैसा एक वर्ष के दौरान यानि की 3 किस्तें बनाई जाएंगी 2-2 हजार की और बैंक खाते में साल के दौरान अलग अलग महीने में किसानों के बैंक खाते में डाल दी जाएंगी |

  • सरकार द्वारा दी जाने वाली राशि सीधे लाभार्थी किसान के बैंक अकाउंट में पहुंच जाएगी |
  • इस योजना को पूरी तरह से भारत सरकार फंड देगी |
  • हर लाभार्थी किसान परिवार को ₹6000 हर साल मिलेंगे |  यह ₹6000 की राशि 2-2 हजार की तीन किस्तों में जारी की जाएगी |

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना(PM Kisan )

योजना से संबंधित नई खबरें:

  • योजना की आधिकारिक अधिसूचना जारी हुई |
  • भारत के काफी राज्यों में अभी तक जमीनी रिकॉर्ड अपडेटेड नहीं है और कई जगह तो ऑनलाइन भी नहीं किए गए हैं इसकी वजह से किसान सम्मान निधि योजना के क्रियान्वयन में शुरू में दिक्कतें आ सकती हैं |
  • टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार जो किसान 1 फरवरी के बाद जमीन खरीदेंगे उन्हें इस योजना का लाभ लेने के लिए 5 साल का इंतजार करना होगा |
  • नवभारत टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार इसी योजना की पहली दो किस्ते सरकार चुनाव से पहले ही बांट सकती है |

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लिए कौन-कौन से कागजात चाहिए होंगे?

  1. लाभार्थी किसान का आधार कार्ड |
  2. जमीन के कागजात |
  3. आधार से लिंक बैंक खाता (पासबुक) |

हाल ही में “पीआईबी इंडिया” ने इस योजना से संबंधित एक फोटो शेयर किया है :

कहा जाता है – किसान के कंधों पर पूरे देश का भार होता है और यह बिल्कुल सही बात है| क्योंकि किसान खेती बाड़ी करना बंद कर दे तो हम सभी के आगे मुश्किलें खड़ी हो जाएंगी | इसलिए यह जरूरी है कि देश के हर किसान को सरकार ज्यादा से ज्यादा सहायता प्रदान करें | हालांकि पहले के मुकाबले किसानों की स्थिति सुधरी है लेकिन हमें अभी भी बहुत कुछ सीखना है|

कुछ बातें लोगों के मन में अक्सर घूमती हैं जैसे :

  • किसान सम्मान निधि जैसी योजनाओं को चुनावों के दौरान ही क्यों जारी किया जाता है ?
  • किसानों की ऋण माफी चुनावों के आस पास ही क्यों की जाती है ?

मैं जानता हूं आप सबको इसका उत्तर पता होगा | इस बारे में जरूर सोचिए

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लिए कौन-कौन से कागजात चाहिए होंगे? हमारा मकसद इस योजना का विरोध करना नहीं है | यह बात सही हो सकती है ₹500 महीना बहुत कम राशि है लेकिन जैसे के कहते हैं कुछ ना होने से कुछ होना ही अच्छा | इसीलिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना एक सराहनीय कदम है और अगर इस योजना का लाभ सभी जरूरतमंद किसानों को मिले तो यह देश हित में होगा |

ये भी पढ़ें – buddha bhagwan ki kahani

किसान सम्मान निधि योजना | Kisan Samman Nidhi Yojana in Hindi

आइए अब जानते हैं इस योजना में क्या अच्छा है और क्या नहीं :

क्या अच्छा है?

  • देश के गरीब किसानों को सरकार द्वारा आर्थिक सहायता मिलेगी |
  • क्योंकि राशि सीधे बैंक अकाउंट में जाएगी भ्रष्टाचार की गुंजाइश काफी कम रह जाती है |
  • जो किसान भाई आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं उन्हें इस योजना से अवश्य लाभ होगा |

क्या अच्छा नहीं है?

इस योजना में मिलने वाली आर्थिक सहायता की राशि काफी कम है | अगर सरकार किसी तरह से इस राशि को बढ़ा दे तो ज्यादा से ज्यादा किसान सही मायने में इस योजना से फायदा उठा सकेंगे |

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना कैसे काम करेगी?

बहुत से किसान अभी भी यह नहीं जानते कि यह योजना कैसे काम करेगी और उन तक इस योजना का लाभ कैसे पहुंच पाएगा ?  आइए समझते हैं |

  • सबसे पहले कृषि विभाग पीएम किसान योजना के लिए आधिकारिक वेबसाइट जारी किया गया है |
  • वेबसाइट में संबंधित विभाग सभी लाभार्थी किसानों की सूची ऑनलाइन अपलोड करेगी|
  • फिर राशि लाभार्थी किसानों के बैंक अकाउंट में भेज दी जाएगी |

क्या है लोगों का कहना?

सोशल मीडिया पर इसी योजना से संबंधित अपने अपने विचार बहुत से लोगों ने समझा किए हैं | कुछ इस योजना को सराहनीय कदम मानते हैं और कुछ इसे किसानों की बेइज्जती कह रहे हैं | हमने कुछ ऐसे ही कमेंट टि्वटर से उठाए हैं :

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के बारे में आपकी क्या राय है ? क्या आपको लगता है कि यह स्कीम देश में कुछ बड़े परिवर्तन लेकर आएगी? नीचे कमेंट में जरूर बताएं |

thescouts logo Abdul Qader Khan

नमस्कार दोस्तों, मेरे पास वर्डप्रेस पारिस्थितिकी तंत्र में समृद्ध SEO सामग्री लिखने और उत्पादन करने का छह साल का अनुभव है। "पढ़ेगा भारत तभी तो बढ़ेगा भारत" |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *